top of page
  • Writer's pictureAdv. Prabhjot

एक मुस्कुराहट | Ek Muskurahat

Updated: May 7, 2021

"लफ़्ज़ों के परे भी

मिल जाता है मुझे सुकून,

बस उस एक मुस्कुराहट को देखकर।।"


Dedicated to that one smile and the very intelligent and humble person behind it.

Late Advocate Ashok Tiwari Ji


एक मुस्कुराहट

Late Advocate Ashok Tiwari Ji

मुझे आज भी याद है

वो दिन

जब मैं थकी हारी

मायूस सी

बुझी हुई सी

बेजान से

ख़्वाब लेकर

रूबरू हुई थी

उस एक मुस्कुराहट से

जो अपनी सी लग रही थी

कुछ नए अपनों के साथ

जो कह रही थी मुझसे

कि नयी सी शुरूआत है

कहीं डर मत जाना

सब्र का इम्तिहान है

जल्दी में बिखर मत जाना

अब तो हर दिन होती हूं रुबरु

उस एक मुस्कुराहट से

कि मेरे ख्वाबों को

जिंदा रखती है

वो एक मुस्कुराहट

मेरी कलम को

जिंदा रखती है

वो एक मुस्कुराहट।।


लेखिका

प्रभजोत कुमारी

Books You Must Read-



266 views0 comments

Comments


Subscribe For Latest Updates

Thanks for subscribing!

bottom of page