top of page
  • Writer's pictureVishal Vats

उनकी यादें | Unki Yaaden

उनकी यादें


अपने मन से निकालने की हर कोशिश में खुद को असफल पाता हूं।

दिल और दिमाग पर अब उन्हीं का कब्जा पाता हूं।।


नजरअंदाज करने पर भी, नजरअंदाज नहीं कर पाता हूं।

चाहकर भी उन्हे चाहना नहीं छोड़ पाता हूं।।


दूर जाने की कोशिश हजारो करता हूं।

हर बार उनके ओर करीब पहुंच जाता हूं।।


उसको भूलने के लिए बहुत सोचा करता हूं।

हर बार दिल के आगे दिमाग हार जाता हूं।।



लेखक

विशाल वत्स

Best Books To Read-


40 views0 comments

Recent Posts

See All

Comments


Subscribe For Latest Updates

Thanks for subscribing!

bottom of page