top of page
  • Writer's pictureKhushbu

मोहब्बत हो तुम । Mohabbat Ho Tum

Updated: May 7, 2021

मोहब्बत हो तुम।


आँखों को बंद करके देखा,

नज़र आया चेहरा तेरा ||


जब तन्हाईयों से सामना हुआ,

तेरे होने का एहसास हुआ ||


तब ज़िन्दगी ने पीछे से गिराना चाहा,

तुमने हमेशा मेरा विश्वास बढ़ाना चाहा ||


कैसे बयां करूँ कौन हो तुम,

मेरी ज़िन्दगी में नमक हो तुम ||


दिल और दिमाग में कशमकश है,

उलझी मेरी ज़िन्दगी की डोर है ||


दिमाग कहता है दोस्त हो तुम,

दिल कहता है मोहब्बत हो तुम ||


कैसे बयां करूँ कौन हो तुम,

मेरी चाहत, मेरी ख्वाहिश , आखिर मेरी मोहब्बत हो तुम ||



लेखिका

खुशबु

Books You Must Read-


84 views0 comments

Recent Posts

See All

Comments


Subscribe For Latest Updates

Thanks for subscribing!

bottom of page